Header Ads

"सुरक्षित विद्यालय सुरक्षित राजस्थान" शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित अभिनव पहल ने बनाया विश्व रिकॉर्ड


समाज मैं महिलाओं एवं बच्चों के साथ होने वाली अप्रिय घटनाओं से बचाव के लिए राजस्थान सरकार के शिक्षा शासन सचिव द्वारा एक अभिनव पहल की गई जिसमें राजस्थान के प्रत्येक विद्यालय में दिनांक 26 अगस्त 2023 शनिवार को
गुड टच बेड टच प्रशिक्षण दिया गया जिसमें विद्यालय के समस्त छात्र-छात्राओं एवं अभिभावकों को यौन शोषण के प्रति जागरूक होने के लिए प्रशिक्षण दिया गया।
इस प्रशिक्षण में छात्र-छात्राओं एवं अभिभावक को सोशल और सेल्फ अवेयरनेस के बारे में बताया गया जिसमें छात्र-छात्राओं को अप्रिय स्थिति में क्या करें और क्या ना करें पर जानकारी दी गई तथा अपने साथ हो रहे दुर्व्यवहार पर अपने अभिभावकों के साथ या विद्यालय में अध्यापकों के साथ खुलकर बात करने के लिए प्रेरित किया गया और बताया गया कि जब किसी मुसीबत में कहीं से भी मदद ना मिले तब चाइल्ड लाइन नंबर 1098 पर संपर्क कर अपनी समस्या बता सकते हैं।
प्रशिक्षण के दौरान छात्रों को संदेश नामक मूवी दिखाई गई जिसका लिंक नीचे दिए गया है आप भी अपने घर में बच्चों को जरूर दिखाएं तथा अपने बच्चों को भी इसके बारे में अवेयर करें।
इस पहल ने बनाया विश्व रिकॉर्ड
शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित इस अभिनव पहल ने विश्व रिकॉर्ड बनाया है जिसमें राजस्थान के 65162 विद्यालय ने भाग लिया जिसमें 1.01 लाख सेशंस हुए जिसमें 58.45 लाख विद्यार्थियों ने भाग लिया और 3.45 लाख शिक्षक व अभिभावक इस कार्यक्रम से जुड़े तथा 1.25 लाख अतिथियों ने भाग लिया।
कुल 63.15 लाख लोगों ने अभियान में हिस्सा लिया और इस पहल को विश्व रिकॉर्ड बना दिया।
क्यों पड़ रही हैं ऐसे प्रशिक्षण की आवश्यकता ?
हमारा समाज आज विकास की ओर तो बढ़ रहा है लेकिन बड़े दुख की बात यह है कि हम मानवता को भूल रहे हैं मानवता पशुता में ढल रही है। आज समाज में छोटे बच्चों शिशुओं को
कुछ लोग अपने यौन आकर्षण के लिए इनके साथ अमानवीय अपराध कर रहे हैं ऐसी घटनाएं समाज को शर्मसार कर देती हैं
इन्हें यह पता होता है कि कम उम्र के मासूम बच्चे कमजोर व नासमझ होते हैं दूसरों से जल्दी गुल मिल जाते हैं वह दूसरों पर जल्दी विश्वास भी कर लेते हैं इस कारण इनका फायदा उठाना सहज हो जाता है प्राय यह देखा गया है कि इस तरह की घटनाओं को अंजाम देने वाले अपराधी अक्सर पड़ोसी या रिश्तेदार होते हैं अतः बच्चों को इन्हीं अपराधियों से बचाने के लिए good touch bad touch के बारे मैं बताना बहुत जरूरी है हमारे समाज में माता-पिता अपने बच्चों को इस बारे में बताने में को खुद को असहज महसूस करते हैं अब हमे इस आधुनिक दौर में इस बारे में अवेयर होने की अधिक आवश्यकता है।
हम कैसे बताएं अपने बच्चों को ?
निम्न पोस्टर के माध्यम से आप भी अपने बच्चों को गुड टच एवं बेड टच के बारे में जानकारी देकर इनको जागरुक कर सकते हैं
Good touch 
बच्चों को बताए कोई आपको टच करें और उससे आपको अच्छा लगे तो यह गुड टच होता है


Bad touch
कोई आपको गलत तरीके से टच करें और आपको अच्छा नहीं लगे बुरा लगे तो यह बेड टच होता है।


अपने बच्चों को ना कहना सिखाएं 
बच्चों के मन से डर दूर करें उनका आत्मविश्वास बढ़ाए और उन्हें ना कहना सिखाएं उन्हें समझाएं कि उन्हें गलत तरीके से कोई परेशान करे या छुए तो तुरंत विरोध करें और अपना बचाव करते हुए शोर मचाए और वहां से भाग जाए और अपने माता-पिता को बताएं ।


माता-पिता अपने बच्चों के व्यवहार पर नजर जरूर रखें क्योंकि कुछ गलत होता है तो व्यवहार में परिवर्तन जरूर आता है ऐसे में उनके मन को पढ़ने की कोशिश करें और खुलकर बात करने के लिए कहें।



1 comment:

  1. सुरक्षित स्कूल सुरक्षित राजस्थान एक बहुत बढ़िया सकारात्मक सोच जो आदर्श नैतिक शिक्षा का हिस्सा है।

    ReplyDelete

Powered by Blogger.